हिन्दी प्रचारिणी सभा: ( कैनेडा)
की अन्तर्राष्ट्रीय त्रैमासिक पत्रिका

डॉ.कविता भट्ट को साहित्य के क्षेत्र में‘फ्यूंली कौथिग सम्मान’ - सम्पादक

दिनांक 8 मार्च,2018 को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर उत्तराखंड के सीमान्त जिले चमोली के गौचर में सेवा इंटरनेशनल द्वारा ‘फ्यूँली कौथिग’ आयोजित किया गया। जिसमें विविध क्षेत्रों के उत्कृष्ट एवं धरातल पर कार्य करने वाली सीमान्त क्षेत्र की महिलाओं को सम्मानित किया गया। साहित्य, स्वास्थ्य, शिक्षा, संस्कृति एवं  तकनीकि आदि क्षेत्रों में सम्मान दिए गए। हिंदी चेतना के सम्पादन मंडल की सदस्या हे न ब गढ़वाल विश्वविद्यालय में सेवारत कोटमा रुद्रप्रयाग की महिला साहित्यकार डॉ कविता भट्ट को साहित्य के क्षेत्र में सम्मानित किया गया। जोशीमठ की नत्थी देवी, रुद्रप्रयाग की  बैशाखी देवी, फाटा की दर्शनी रावत को स्वास्थ्य सेवा, गौचर की बीना बीना मैठाणी को शिक्षा, अर्चना बहुगुणा को समाज सेवा प्रधानमंत्री कौशल विकास के तकनीकि शिक्षा हेतु उखीमठ की कविता राणा, नंदादेवी घाटी से पत्रकारिता हेतु पूनम रावत, नन्ही कलमकार लम्गौन्डी की कृतिका को भी सम्मानित किया गया। यह सभी सम्मान उन महिलाओं को दिए गये जिन्होंने पहाड़ की विपरीत भौगोलिक परिस्थितियों में भी अपने हौसलों को डिगने नहीं दिया। सम्मान कार्यक्रम की मुख्य अतिथि इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की अंतरराष्ट्रीय समन्वयक एवं समाजसेवी डॉ.रजनी सरीन के द्वारा  प्रदान किए गए.कार्यक्रम के प्रबंधक सेवा इंटरनेशनल के अभिषेक कुमार, कार्यक्रम समन्वयक सुशील शुक्ला, परियोजना प्रभारी स्वास्थ्य सहयोगी सेवा प्रदीप नेगी एवं परियोजना सहायक सेवा साहस विजय रावत के कुशल परिचालन में लगभग 3000 महिलाओं ने उत्तराखंडी लोकनृत्यों झुमेलों, बग्ड्वाल, पांडव,चौफुला तथा भोटिया आदि नृत्यों, नाटिकाओं में प्रतिभाग के साथ ही दर्शक दीर्घा में आनंद भी लिया। इस कार्यक्रम में प्रत्येक उम्र की महिलाओं ने सामाजिक चेतना रोचक एवं शिक्षाप्रद सांस्कृतिक प्रस्तुतियाँ दी।

उल्लेखनीय है कि सेवा इंटरनेशनल द्वारा उत्तराखंड के सीमान्त क्षेत्रों सहित अनेक जनपदों में प्रधानमंत्री कौशल केन्द्रों के माध्यम से कौशल एवं प्रशिक्षण के विविध कार्यक्रम चला रहा है। साथ ही पुनर्वास, स्वास्थ्य शिक्षा एवं महिला सशक्तीकरण आदि के द्वारा विषम भौगोलिक परिस्थिति वाले राज्य उत्तराखंड में स्वरोजगार विकसित हो रहा है।