हिन्दी प्रचारिणी सभा: ( कैनेडा)
की अन्तर्राष्ट्रीय त्रैमासिक पत्रिका

दून लिटरेचर फेस्टिवल - सम्पादक

दून लिटरेचर फेस्टिवल

दून लिट्रेचर फेस्टिवल में ‘कितने रंग की बातें…’ डॉ नूतन गैरोला के चिरप्रतीक्षित  कविता संग्रह का 24 दिसम्बर 2014 को लोकार्पण हुआ।लोकार्पण वरिष्ठ साहित्यकार पद्मश्री श्री लीलाधर जगूड़ी जी, doon-litrature-estival-1साहित्यकार समीक्षक श्री  अरुण देव जी, वरिष्ठ साहित्यकार श्री लक्ष्मण सिंह बिष्ट ‘बटरोही’ जी, लेखक कवि श्री शैलेश जी, युवा लेखिका कवयित्री प्रतिभा कटियार जी, युवा कवि समीक्षक आशीष मिश्रा जी के हाथों हुआ।

देश के कई साहित्यकार इस अवसर पर मौजूद थे। पुस्तक की प्रस्तावना लीलाधर जगूड़ी जी ने लिखी है ।

doon-litrature-estival-3ब्लर्ब कवि, लेखक, समीक्षक श्री शिरीष मौर्य ने लिखा है व पुस्तक के बेक कवर पर पुस्तक की कविताओं पर लक्ष्मण सिंह बटरोही जी, नन्द भारद्वाज जी, कवि समीक्षक अरुण देव जी और कवि, कथाकार समीक्षक विजय गौड़ जी की कविताओं पर टिप्पणी है ।

नूतन गैरोला की कविताएँ, कहानियाँ  साहित्यिक पत्रिकाओं में छपती रहती है। । वे उत्तराखंड से निकलने वाली पत्रिका उत्तरजन टूडे की नियमित लेखक हैं।  पूर्व में उनकी संकलित, संपादित ‘आधी आबादी की यात्रा’ नाम की पुस्तक 10 जुलाई, 2016 को निकली है।

doon-litrature-estival-2कितने रंग की बातें:: डॉ नूतन गैरोला,आवरण : कुँवर रविंद्र,प्रकाशक एवं मुद्रक : समय साक्ष्य 15 , फ़ालतू लाइन , देहरादून-248001, पृष्ठ :128,पुस्तक का मूल्य: 175/- रूपये