हिन्दी प्रचारिणी सभा: ( कैनेडा)
की अन्तर्राष्ट्रीय त्रैमासिक पत्रिका

भाषा और संस्कृति का उत्सव - सम्पादक

शनिवार 2 अप्रैल 2016

हिन्दी कक्षा के विद्यार्थियों व कक्षा  की शिक्षिकाओं , बच्चों के माता- पिता व् मन्दिर सहयोगी कार्यकर्ताओं ने मन्दिर के भूतल सभागार में होली के अवसर पर यह कार्यक्रम प्रस्तुत किया | ये बच्चे लगभग 2 वर्ष से प्रत्येक रविवार हिन्दी की शिक्षा नि;शुल्क प्राप्त करते हैं | बच्चों की आयु 4 से 13 है | बच्चों का उत्साह और उनकी रुचि जाग्रत करने के लिए हमारे कुशल शिक्षक , श्रीमती किरन सैंगवान, निधि  मल्होत्रा, और मानिका भायना  रचनात्मक ढंग से हिदी भाषा पढाती  है | बोल -चाल , लिखने  पढने के अतिरिक्त वे अपने देवी देवताओं, तथा भारतीय संस्कृति और महान पुरुषों की कथाओं से भी अवगत करवाते हैं ।हमारा उद्देश्य बच्चों को हिन्दी भाषा के प्रेरित करना है।

DSC_5025 DSC_5094 DSC_5096 DSC_5099 DSC_5100 DSC_5101 DSC_5105 DSC_5108 DSC_5109 DSC_5111 DSC_5112 DSC_5113हमारा प्रयास है कि हम इन बच्चों को अपनी हिन्दी भाषा और भारत की  सांस्कृतिक चेतना से परिचित कराएँ , ताकि वे भविष्य में अपनी भाषा और संस्कृति पर गर्व कर सकें | मन्दिर की कार्यकारिणी इस कार्यक्रम में पूर्ण रूप से समर्पित है | विशेषकर हमारे अध्यापक और उनके माता – पिता जो प्रति सप्ताह इस कार्य को सुचारु रूप से निभाते हैं।

इस दिन सारे बच्चे अपने भारतीय वेश- भूषा में सज धजकर आए | उस दिन मंच का संचालन श्रीमती  मानिका भायना  जी ने किया | हमारे मुख्य अतिथि स्थानीय कौंसिलर श्री रेमंड चो थे और उनके सहयोग के लिए श्री अश्विनी भारद्वाज जो लिबरल पार्टी के प्रमुख सदस्य हैं | इसके अतिरिक्त मन्दिर के श्री प्रेम शर्मा , अशोक कौशल, शीर लोकेश जी व राजन मेह्लोत्रा , राज सिंह, व् डी जे , एवं फोटो ग्राफर  रवि भल्ला और श्री विशाल नरूला जी , श्रीमती सुरेखा त्रिपाठी व् अनेकों रसोई घर में सहायकों का |

कार्यक्रम : सर्वप्रथम बच्चों  संस्कृत में कुछ मन्त्र उच्चरित किए | फिर सभी बच्चो में दो -दो कबीर, रहीम ,नानक आदि के दोहे याद करके सुनाए | इसके बाद सभी बच्चों ने हिन्दी के महान कवियों की कविताएँ पढीं | अंत में कुछ वरिष्ठ बच्चों ने हरमोनियम और तबले पर कुछ होली के गीत प्रस्तुत किए।

कार्यक्रम का समापन माता शारदे से हुआ | तदुपरान्त श्री रेमंड चो , श्री अश्विनी भारद्वाज और श्याम त्रिपाठी , निधि मल्होत्रा मानिका भायना और सभी भाग लेने वाले बच्चों को सम्मान पत्र भेंट किए | सारा कार्यक्रम सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ |

श्री श्याम त्रिपाठी ने  सभी को सम्मानपूर्वक आभार प्रकट किया | मन्दिर की ओर से अल्पाहार की सुरुचिपूर्ण व्यवस्था की गई थी , जिसका सभी ने आनन्द लिया और सभी ने बच्चों के इस कार्क्रम की भरपूर प्रशंसा की |

श्याम त्रिपाठी – सयोजक हिन्दी कार्यक्रम लक्ष्मी नारायण मन्दिर स्कारबरो , ओंटेरियो कैनेडा