हिन्दी प्रचारिणी सभा: ( कैनेडा)
की अन्तर्राष्ट्रीय त्रैमासिक पत्रिका

‘वीणा’ पत्रिका के सम्पादक का सारस्वत सम्मान - सम्पादक

भारत की किसी भी भाषा में अब तक निरन्तर प्रकाशित सबसे पुरानी पत्रिका ‘वीणा’ के संपादक 2-RKS - Copyराकेश शर्मा का सारस्वत सम्मान किया गया। उन्हें यह सम्मान वीणा के 90 वर्ष पूर्ण होने पर साहित्यकार रमेश दवे, कवि चन्द्रसेन विराट, नर्मदाप्रसाद उपाध्याय, श्री सत्यनारायण सत्तन, प्रो. सूर्यप्रकाश चतुर्वेदी की उपस्थिति में श्री मध्यभारत हिन्दी साहित्य समिति, इन्दौर के पदाधिकारियों ने दिया गया। श्री शर्मा के अब तक 12 ग्रंथ प्रकाशित हैं। साहित्यिक पत्रिका ‘वीणा’, बहुरंग सहित उन्होंने 11 कृतियों का संपादन किया है। हिन्दी साहित्य के स्वनामधन्य 20 रचनाकारों के साक्षात्कारों पर केन्द्रित उनकी एक नई कृति ‘वार्ता का विवेक’ तथा काव्य संकलन ‘धारा के विपरीत’ प्रकाशनाधीन है।

भारत सरकार श्रम मंत्रालय में सहायक निदेशक, राजभाषा के रूप में पदस्थ श्री शर्मा के व्याख्यान, वार्ताएँ आदि आकाशवाणी और दूरदर्शन तथा टी.वी. के अन्य चैनलों एवं ज्ञानवाणी से निरन्तर प्रसारित हो रहे हैं। वे हमारे समय के साहित्य के मर्मज्ञ विद्वान् हैं।

सम्पर्क :‘मानस निलयम’, एम-2 वीणा नगर, इन्दौर 452010, मो. 9425321223,

ई-मेल-rakeshsharmaindore@gmail.com