हिन्दी प्रचारिणी सभा: ( कैनेडा)
की अन्तर्राष्ट्रीय त्रैमासिक पत्रिका

श्री एल एम सब्बरवाल नहीं रहे - सम्पादक

8 जुलाई 2017 आदरणीय ओंटेरियो कैनेडा श्री  एल एम सब्बरवाल जी का निधन हो गया । आपकी आयु 91वर्ष थी । कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे थे और अंत में ईश्वर को प्रिय हो गए । सब्बरवाल जी  एक स्वतन्त्रता सेनानी, देश प्रेमी, भारतीय संस्कृति के प्रतिपालक, मानवतावादी  एक एल एम् सब्बरवालसच्चे,  सुहृदय  मित्र थे  ! आपने ओंटेरियो में  विश्व हिन्दू परिषद की स्थापना की , राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक होने के नाते अनेकों स्थलों पर ‘शाखाएँ” आयोजित की ।  समाज के सेवक एवं भारतीयों के प्रतिनिधि  के रूप में  आपका नाम स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा । एक सरल, सभ्य अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति के पुरुष थे । आप आजीवन अपने सिद्धान्तों पर अटल रहे । आप भारत के वे सपूत थे ,जिन पर भारत के महान नेताओं को गर्व था । वह  भारत से दूर रहते थे किन्तु हमेशा भारत के विषय में सोचते थे । उन्होंने अपना जीवन सदा सरल और  साधारण रखा । अपने खून -पसीने की कमाई से एक आदर्श परिवार का निर्माण किया ।अपनी चारो बेटियों और उनके बच्चों में अच्छे संस्कार भरे । अनेक परिवारों को टूटने से बचाया । आप विश्व हिन्दू परिषद  के एक स्तम्भ थे ।

-0- श्याम त्रिपाठी